अगस्त 2, 2021

पिज्जा हट, केएफसी ऑपरेटर देवयानी इंटरनेशनल को आईपीओ लाने के लिए सेबी की मंजूरी

Dodla Dairy Makes A Strong Debut;Lists At 28% Premium On NSE


देवयानी इंटरनेशनल पूरे भारत में 297 पिज्जा हट स्टोर, 264 केएफसी स्टोर और 44 कोस्टा कॉफी संचालित करती है

देवयानी इंटरनेशनल को प्रस्तावित आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए सेबी की मंजूरी मिल गई है। आईपीओ में 400 करोड़ रुपये के शेयरों का ताजा निर्गम और 12.5 करोड़ शेयरों की बिक्री की पेशकश शामिल होगी। देवयानी इंटरनेशनल भारत में यम ब्रांड्स की सबसे बड़ी फ्रेंचाइजी है, इसके अलावा पिज्जा हट और केएफसी जैसे क्विक सर्विस रेस्तरां (क्यूएसआर) ब्रांड और इसके अपने ब्रांड वांगो और फूड स्ट्रीट संचालित करते हैं।

रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के मसौदे के अनुसार, आईपीओ की आय का इस्तेमाल कर्ज चुकाने और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए किया जाएगा।

देवयानी इंटरनेशनल का नेतृत्व आरजे कॉर्प के प्रमोटर रवि कांत जयपुरिया और अध्यक्ष और सीईओ विराग जोशी कर रहे हैं। कंपनी के व्यवसाय को मोटे तौर पर तीन कार्यक्षेत्रों में वर्गीकृत किया गया है अर्थात केएफसी, पिज्जा हट और कोस्टा कॉफी। इसने मार्च 2021 तक पूरे भारत में 297 पिज़्ज़ा हट स्टोर, 264 केएफसी स्टोर और 44 कोस्टा कॉफ़ी का संचालन किया।

देवयानी इंटरनेशनल यम ब्रांड्स की सबसे बड़ी फ्रेंचाइजी है, जो पिज्जा हट, केएफसी और कोस्टा कॉफी जैसे प्रमुख ब्रांडों का संचालन करती है, साथ ही वांगो, फूड स्ट्रीट, मसाला ट्विस्ट, इले बार, अमरेली और क्रुश जूस बार जैसे अपने स्वयं के ब्रांड भी हैं।

कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, सीएलएसए इंडिया, एडलवाइस फाइनेंशियल सर्विसेज और मोतीलाल ओसवाल इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स आईपीओ के मर्चेंट बैंकर हैं।



Source link