अगस्त 5, 2021

NIA ने टेरर फंडिंग केस में जम्मू-कश्मीर में कई स्थानों पर छापेमारी की

टेरर फंडिंग मामले में जम्मू-कश्मीर में बड़ी कार्रवाई है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने राज्य के कई स्थानों पर छापेमारी की है. राज्य में टेरर फंडिंग को लेकर सख्ती बीते कई दिनों से देखने को मिल रही है.

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में आतंक के खिलाफ NIA ने बड़ी कार्रवाई की है. टेरर फंडिंग मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने कई जगहों पर छापेमारी की है. घाटी में आतंक को बढ़ावा देने वाले लोगों पर NIA की पैनी नजर है. इस क्रम में कुछ दिन पहले ही सरकार ने हिज्बुल मुजाहिदीन सरगना सैयद सलाहुद्दीन के दो बेटों और दो पुलिस कर्मियों सहित अपने 11 कर्मचारियों को बर्खास्त किया था. बर्खास्त किये गये कर्मचारी शिक्षा, पुलिस, कृषि, कौशल विकास, बिजली, स्वास्थ्य विभाग और एसकेआईएमएस (शेर ए कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज) से थे. इन 11 कर्मचारियों में अनंतनाग से चार, बडगाम से तीन और बारामूला, श्रीनगर, पुलवामा व कुपवाड़ा से एक-एक हैं.

हिज्बुल मुजाहिदीन के सरगना के बेटों सैयद अहमद शकील और शाहिद युसूफ को भी आतंकी वित्त पोषण में कथित तौर पर संलिप्त रहने को लेकर सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है. अधिकारियों ने बताया कि उनमें से एक एसकेआईएमएस में कार्यरत था जबकि दूसरा शिक्षा विभाग में था. उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण ने दोनों व्यक्तियों के तार आतंकी वित्त पोषण से जुड़े होने का पता लगाया था.