अगस्त 5, 2021

प्रशांत किशोर से मिले कैप्टन अमरिंदर सिंह, 2022 में दोबारा साथ आने की अटकलें शुरू

सत्ता विरोधी लहर और पंजाब में सिद्धू संग अंदरूनी कलह के बीच अमरिंदर एक बार फिर प्रशांत किशोर के साथ 2022 में जीत को दोहराना चाहते हैं.

नई दिल्ली: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ बुधवार बैठक की है. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी से मुलाकात के एक दिन बाद दिल्ली के कपूरथला हाउस में प्रशांत किशोर से मीटिंग की. प्रशांत किशोर को कई चुनावों में जीत दिलाने का श्रेय जाता है. 2017 में भी उन्होंने कैप्टन के लिए चुनाव कैंपेन तैयार किया था. सत्ता विरोधी लहर और पंजाब में सिद्धू संग अंदरूनी कलह के बीच अमरिंदर एक बार फिर प्रशांत किशोर के साथ 2022 में जीत को दोहराना चाहते हैं. वहीं नवजोत सिंह सिद्धू संग अमरिंदर का कलह आलाकमान अभी तक नहीं सुलझा पाया है.

कांग्रेस के एक पैनल ने सुझाव दिया है कि सिद्धू को या तो पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जाए या फिर राज्य में मंत्रिमंडल में फेरबदल किया जाए. सूत्रों का कहना है कि कैप्टन ने दोनों ही विकल्पों का विरोध किया है, हालांकि उन्होंने मंगलवार को मीडिया से कहा- मुझे सिद्धू साहब के बारे में कुछ नहीं मालूम.कांग्रेस अध्यक्ष जो भी फैसला करेंगी, हम उसका पालन करेंगे.

दिल्ली में नेताओं के साथ अपनी बैठकों में सीएम अमरिंदर सिंह से कथित तौर पर अपने चुनावी वादों पर काम करने का आग्रह किया गया था, जिसे सिद्धू ने अपने सार्वजनिक हमलों में उनके खिलाफ बार-बार इस्तेमाल किया है. सूत्रों का कहना है कि हालांकि प्रशांत किशोर ने अमरिंदर सिंह को कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया है. प्रशांत किशोर ने हाल ही में बंगाल और तमिलनाडु में अच्छे प्रदर्शन को अपने पोर्टफोलियो में जोड़ा, लेकिन उसके तुरंत बाद ही बिना कोई कारण बताए चुनावी कामकाज से संन्यास की बात की थी.