अक्टूबर 25, 2021

MP: 17 लाख के से 4000 पर क्‍यों आ गया MP में कोरोना वैक्‍सीनशन? मंत्री ने बताई ये वजह

कांग्रेस (Congress) के आरोप पर प्रदेश के लघु उद्योग मंत्री ओम प्रकाश सखलेचा ने सुझाव दिया कि कमलनाथ (Kamalnath) अपने ही विधानसभा क्षेत्र का आंकड़ा देख लें और बताएं कौन से नाम फर्जी हैं.

दिल्ली. मध्य प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन महा अभियान (Corona vaccination drive) के पहले दिन रिकॉर्ड तोड़ टीका लगाने के सरकारी दावे सवालों के घेरे में हैं. कांग्रेस ने तीन दिन के आंकड़े दिखाकर पूछा कि आखिर झूठ किससे कहा जा रहा है. कांग्रेस ने सवाल उठाया तो बीजेपी नेता बचाव में सामने आ गए. प्रदेश के लघु उद्योग मंत्री ओम प्रकाश सखलेचा ने पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamalnath) को सलाह दी कि वो छिंदवाड़ा की लिस्ट चैक कर लें.

मध्य प्रदेश के प्रदेश के लघु उद्योग मंत्री ओम प्रकाश सखलेचा ने कहा कमलनाथ जानते हैं कि जब पीएम के नेतृत्व में किसी एक दिन अभियान चलाया जाता है, उस दिन व्यवस्था उसी अनुरूप होती है. उन्होंने बताया कि नीमच में 7 हजार का लक्ष्य तय हुआ, मगर एक दिन में 26 हजार कोरोना के टीके लगे हैं. पार्टी कार्यकर्ता बाहर निकले और लोगों से टीका लगवाने का आग्रह करते रहे. इसी तरह से पूरे राज्य में टीकाकरण अभियान हुआ था. उन्होंने दावा किया कि सरकार की योजना है तीन महीने में राज्य के अभी लोगों को टीके की एक डोज लग जाए.

छिंदवाड़ा की लिस्ट देखने का सुझाव
ओम प्रकाश सखलेचा ने कटाक्ष करते हुए कहा कमलनाथ पहले टीका लगाने के लिए पहले मना करते हैं, मगर पहले खुद ही टीका लेते हैं. बोलने की बात अलग है और टीका लगवाने बात अलग है. विरोध करने के लिए सिर्फ विरोध कांग्रेस नेता कर रहे हैं. कमलनाथ अपने ही विधानसभा क्षेत्र का आंकड़ा देख लें और बताएं कौन से नाम फर्जी हैं. बिना तथ्यों के आरोप लगाना अच्छी बात नहीं है. कांग्रेस पार्टी किसी जिले में पूरी ताकत लगाकर बताए कि कितने फीसदी आंकड़े गलत हैं.

ग्वालियर में फर्नीचर क्लस्टर
सखलेचा ने बताया कि मध्य प्रदेश के ग्वालियर में फर्नीचर क्लस्टर बनाया जा रहा है. इससे क्षेत्र के करीब 10 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा. यहां पर तैयार फर्नीचर चीन के फर्नीचर से ज्यादा गुणवत्ता परक और 30 फीसदी सस्ता होगा.क्लस्टर के लिए जमीन की पहचान कर ली गई है. कीर्ति नगर फर्नीचर मार्केट के करीब 30 से 35 उद्योगपति केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से भी मिलेंगे. तोमर केंद्रीय मंत्री और क्षेत्रीय सांसद होने के नाते उद्योगपतियों को हर तरह की मदद और सुविधाएं मुहैया कराएंगे. उन्होंने कहा कोरोना काल में बेरोजगार हुए लोगों को उनके घर के आस पास ही रोजगार मुहैया कराने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि अलग अलग क्लस्टर इंदौर और भोपाल में बन चुका है. अब ये ग्वालियर, खजुराहो, बैतूल में बनेंगे.

चीन के फर्नीचर को टक्कर
ओम प्रकाश सखलेचा ने दावा किया कि क्लस्टर में तैयार फर्नीचर आराम से चीन को टक्कर देगा. क्लस्टर इसलिए बना रहे हैं ताकि चीन से कम कीमत पर लेकिन उससे अच्छी गुणवत्ता का माल यहां पर तैयार हो सके. क्लस्टर में तैयार उत्पाद चीन के फर्नीचर से करीब 25 से 30 फीसदी तक सस्ता भी होगा.