फ़रवरी 5, 2023

सलीम-जावेद ने खूब कमाया पैसा, दोस्ती के बीच सुपरस्टार बन गया ‘ग्रहण’, एक संकेत में बिंदीदार जोड़ी

सलीम-जावेद ने खूब कमाया पैसा, दोस्ती के बीच सुपरस्टार बन गया 'ग्रहण', एक संकेत में बिंदीदार जोड़ी

सलीम-जावेद ने खूब कमाया पैसा, दोस्ती के बीच सुपरस्टार बन गया ‘ग्रहण’, एक संकेत में बिंदीदार जोड़ी

नई दिल्ली। स्क्रीन राइटर जावेद खोल (जावेद अख्तर) ने अपने एक फ्लैश इंटरव्यू में अपने लेखक बनने की जर्नी को याद किया। इस दौरान जावेद ने स्वीकार किया कि उन्हें स्क्रीन राइटर बनने के लिए सलमान खान के पिता सलीम खान (सलीम खान) ने काफी प्रेरित किया था। बता दें कि 70 और 80 के दशक तक जावेद-सलीम की जोड़ी काफी फेमस थी। कहा जाता है कि जब यह जोड़ी किसी फिल्म में साथ आती थी तो थिएटर हॉल के तालियों से गूंज उठती थी। आलम ये था कि दर्शक लंबे समय तक उस फिल्म के डायलॉग और कहानी को भूल नहीं पाए थे। इस जोड़ी ने राइटर सिनेमा को करीब 22 फिल्मों से जोड़ा है।

ऑडियंस को तब झटका लगा जब पता चला कि इस जोड़ी ने अपने रास्ते अलग कर लिए हैं। यह विश्वास करना उन दिनों लोगों के लिए बड़ी चुनौती थी लेकिन सब प्रत्यक्ष में सब प्रत्यक्ष में बदल गया। जोड़ियां तो खूब बनीं लेकिन जावेद-सलीम जैसी जोड़ी फिर कभी बॉलीवुड में नहीं देखी। मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया जा रहा था कि यह जोड़ी टूटने के पीछे सबसे बड़ी वजह बॉलीवुड की बिग बी यानि अमिताभ बच्चन (अमिताभ बच्चन) हैं। अमिताभ बच्चन की वजह से सलीम-जावेद का रिश्ता टूट गया था।

सलीम-जावेद की इन फिल्मों में बिग बी ने किया काम
आपको ये जानकर यकीन नहीं होगा कि सलीम-जावेद की जोड़ी ने यूं तो कई हीरो के लिए फिल्में लिखीं, लेकिन उनकी लिखी फिल्मों में सबसे ज्यादा काम अमिताभ बच्चन ने किया। कहा जाता है कि जब सलीम-जावेद की कोई फिल्म लिखती थी और उस फिल्म में अमिताभ बच्चन काम करते थे, वो फिल्म बॉक्स ऑफिस पर तबड़ड़ तोड़ कमाई करती थी। इसमें ‘शोले’, ‘जंजीर’, ‘दीवार’, ‘डॉन’, ‘त्रिशूल’, ‘ईमान धर्म’, ‘काला पत्थर’, ‘दोस्ताना’, ‘शान’, ‘शक्ति’ और ‘यादों की बारात’ जैसी हिट फिल्में मिलीं शामिल हैं। कहा तो ये भी जाता है कि अमिताभ बॉलीवुड के सुपरस्टार सलीम-जावेद की वजह से ही बने थे। उनकी लिखी फिल्म ‘जंजीर’ से ही अमिताभ नाइट्स नाइट ‘एंग्री यंगमैन’ के अंदाज में छा गए थे। यह फिल्म साल 1973 में रिलीज हुई थी। फिल्म डायरेक्टर डायरेक्टर मेहरा ने डिजाइन की थी।

जानिए क्या है वजह थी जोड़ी टूटने की वजह
फेमस जर्नलिस्ट अनीता पध्ये की मराठी बुक ‘यही रंग यही रूप’ सलीम-जावेद की जोड़ी काफी कुछ लेकर कुछ लिखा है। इस किताब में उनकी दोस्ती बनने से लेकर टूटने तक का जिक्र है। इसी किताब में बताया गया है कि बॉलीवुड के पहले और आखिरी स्टार स्टेट्स राइटर की जोड़ी कैसे टूटी। इस किताब में आर्टिकलिका ने रिश्ता टूटने का सबसे बड़ा कारण अमिताभ बच्चन को बताया है।

 

मि। इंडिया को रिजेक्ट करना दोस्ती पर भारी
अनीता पध्ये ने अपनी किताब में बताया है कि जब इस स्टार राइटर की जोड़ी ने ‘मि. इंडिया के लिए अमिताभ बच्चन का अपमान किया गया था, तो बिग बी की फिल्म की कहानी कुछ खास नहीं लगी थी। उन्होंने साफ शब्दों में इस फिल्म को करने से मना कर दिया था। मना करने के पीछे अमिताभ बच्चन ने हीरो का ‘गायब हो जाना’ और ‘सिर्फ आवाज सुना दिया’ काफी अजीब लगा। रिपोर्ट के मुताबिक, दर्शक बड़े पर्दे पर उन्हें देखते हैं, ऐसे में कोई बुराई नहीं सिर्फ उनकी आवाज क्यों सुनाई देगी।

अधूरी बनी दीवार, टूट गई सलीम-जावेद की जोड़ी, अब सालों बाद दोस्त को याद कर बोले जावेद अख्तर- ‘हम नाकाम लोग…’

 

जावेद का फैसला सलीम को लगा बचने का
अमिताभ बच्चन के मना करने के बाद सलीम-जावेद जहां सदमे में थे, वहीं दोनों काफी उदास हो गए थे क्योंकि दोनों का मतलब था अमिताभ की ही इस फिल्म के लिए बेस्ट है। किताब के मुताबिक, अमिताभ का खंडन करने के बाद जावेद ने फिर कभी अमिताभ संग काम करने का फैसला नहीं लिया, जबकि सलीम को जावेद का यह फैसला काफी हद तक मंजूर हो गया। इसके साथ ही वह जावेद की इस बात के लिए दिल से तैयार नहीं हो पाए। हालांकि कुछ दिनों के बाद जावेद अमिताभ की होली पार्टी में पहुंचे और उन्होंने कहा कि सलीम खान उनके साथ कभी काम नहीं करना चाहते।

जब ये बातें सलीम को पता चलीं तो उन्हें काफी दुख हुआ। जावेद-सलीम की इस गलतफहमी की वजह से जोड़ी में पहली बार दरार आई, जो कभी भर नहीं पाई। बता दें कि जब साल 1987 में मि. इंडिया फिल्म रिलीज हुई तो दर्शकों पर छा गई। हालांकि इस फिल्म में अमिताभ की जगह अनिल कपूर ने शानदार अभिनय कर दर्शकों का दिल जीत लिया था।

टैग: अमिताभ बच्चन, अमिताभ बच्चन, मनोरंजन समाचार।, मनोरंजन विशेष, जावेद अख्तर, सलीम खान

Source link