फ़रवरी 5, 2023

जब भूख मिटाने के लिए धर्मेंद्र ने लिया दवा का सहारा, अस्पताल में रजिस्टर में पड़ी भर्ती, पूरा किस्सा पढ़ जाइए दिल

जब भूख मिटाने के लिए धर्मेंद्र ने लिया दवा का सहारा, अस्पताल में रजिस्टर में पड़ी भर्ती, पूरा किस्सा पढ़ जाइए दिल

जब भूख मिटाने के लिए धर्मेंद्र ने लिया दवा का सहारा, अस्पताल में रजिस्टर में पड़ी भर्ती, पूरा किस्सा पढ़ जाइए दिल

नई दिल्ली। धर्मेंद्र (Dharmendra) को बॉलीवुड का ‘ही मैन’ कहा जाता है। इस अभिनेता ने अपनी शख्सियत और अभिनय से एक ऐसी पहचान बनाई है जिसे सालों में कोई भी नहीं देख सकता। कहा जाता है कि धर्मेंद्र की फैन फॉलोइंग ऐसी थी कि लड़कियां इस एक्टर की फोटो को तकिए के नीचे भरती सोती थीं। यहां तक ​​की बॉलीवुड के इस हैंडसम हंक को जया बच्चन ने ‘ग्रीक गॉड’ का लेवल भी दे दिया था। दिलीप कुमार भी धर्मेंद्र से इतने प्रभावित थे कि एक बार उन्होंने कहा था कि वह अगले जन्म में धर्मेंद्र जैसा ही इंसानियत पाना चाहते हैं।

फिल्मी दुनिया में सफलता का स्वाद चख चुके धर्मेन्द्र के लिए यह सफर इतना आसान नहीं रहा। ‘ही मैन’ के जीवन में भी कई लोग क्लेम कर चुके हैं। 1966 में आई फिल्म ‘फूल और पत्थर’ से फिल्मी दुनिया में कदम रखने वाले इस अभिनेता का फिल्मी सफर काफी मुश्किल भरा रहा है। धर्मेंद्र के जीवन में एक ऐसा भी दौर था, जब इस अभिनेता को अपनी भूख मिटाने के लिए दवा का सहारा लेना पड़ा। जानते हैं इसके बारे में…

बार-बार नहीं होते थे पैसे
दरअसल, यह किस्सा साल 1977 में आई फिल्म ‘धर्म वीर’ की शूटिंग के दौरान है। मनमोहन देसाई के निर्देशन में बनी इस फिल्म में धर्मेन्द्र, जीनत अमान (ज़ीनत अमान), जितेन्द्र (जीतेंद्र), नीतू सिंह (नीतू सिंह) और प्राण (प्राण) जैसे कई बड़े कलाकार थे। ‘धर्मवीर’ की शूटिंग के दौरान धर्मेंद्र इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने के लिए काफी स्ट्रगल कर रहे थे। उन दिनों ये एक्टर कार्यक्षेत्र की तंगी से भी जूझ रहे थे।

पी गए थे कब्ज की दवा
एक दिन धर्मेंद्र फिल्म की शूटिंग से थक- हार के घर लौटा रहे थे। उस वक्त देर धर्मेंद्र ज्यादातर समय वडा पाव खाकर ही अपनी भूख मिटाते थे लेकिन उस दिन शूटिंग से लौटने की वजह से उन्हें वडा पाव नहीं मिला था। जब इस अभिनेता को भूख मिटाने का और कोई रास्ता नहीं आया तो वह थक कर सोने चला गया। लेकिन भूख से तिलमिलाने के कारण धर्मेंद्र को नींद भी नहीं आई, और जैसे ही उनकी दृष्टि बगल की मेज पर रखी कब्ज की खाई की दवा की खाई पर पड़ी, उन्होंने मजबूरी में पूरी समुद्रतट औषधि पी ली।

पूरी समुद्र में दवा पीने के बाद किसी की भी तबीयत बिगड़ना लाजमी थी। जब सुबह धर्मेंद्र की तबीयत बिगड़ गई और उनके दोस्त उन्हें डॉक्टर के पास ले गए, तो डॉक्टर ने कहा कि उन्हें दवा की नहीं बल्कि खाने की जरूरत है। डॉक्टर ने साथ ही ये भी बताया कि धर्मेंद्र ने कई दिनों से ठीक से खाना नहीं खाया है.

 

टैग: धर्मेंद्र, मनोरंजन समाचार।

Source link