फ़रवरी 5, 2023

लगे सिपाही बन पुतना के लोगों को चूना रहे थे एमपी के नटरवाल, पुलिस ने दबोचा तो खुली पोल

लगे सिपाही बन पुतना के लोगों को चूना रहे थे एमपी के नटरवाल, पुलिस ने दबोचा तो खुली पोल

लगे सिपाही बन पुतना के लोगों को चूना रहे थे एमपी के नटरवाल, पुलिस ने दबोचा तो खुली पोल

पटना। पूर्व पुलिस ने वर्दीधारी तीन कंपकंपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तीन तिकड़ी को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। घटना सिटी टेररिस्ट की है जहां की निगरानी करने वाली पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर महारानी के इलाके में शिलालेख कर ये कार्रवाई की। पुलिस को यह गुप्त सूचना मिली थी कि तीन वर्दीधारी सार्वजनिक पुलिस होने का धौंस दिखाकर लोगों से अवैध शोधन कर रहे हैं। पुलिस को यह भी जानकारी मिली की क्रिएटिन नोटिस की आड़ में दुकानदारों से रंगदारी की मांग कर रहे हैं।

सूचना ही मिलते हुए पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए देखे हुए से ही तैयकी खुली लाइनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस गिरफ्तारियों की साजिश को थाने ले आई, जहां तीन जिलों की कोई भी आईडी प्रस्तुत नहीं कर सकती, साथ ही पुलिस द्वारा पूछे गए सवालों का भी जवाब नहीं दे सकती। कड़ी पूछताछ के बाद तीन अलग-अलग पुलिसवालों ने अपना जुर्म कबूल किया।

जेल भेजे गए सूक्ष्म निशान की पहचान मध्य प्रदेश के रतलाम जिला निवासी फुन्दा नाथ, मंदसौर जिला निवासी लालू नाथ और मुकेश नाथ के रूप में की गई है। पूरे मामले पर पूछे जाने पर पुलिस ने बताया कि लोगों द्वारा तीन वर्दीधारी फर्जी प्रमाणपत्रों द्वारा अवैध करार किए जाने की सूचना मिली थी। पुलिस ने यह भी बताया है कि ज़ोए अधिकार गोपनीय जानकारियों के आड़ में लोग डरा धमका कर अवैध करार कर रहे थे।

आपके शहर से (पटना)

सहयोगी सहयोगी अमित कुमार ने घटना की पुष्टि करते हुए गिरफ्तारियों के पास से पुलिस के वर्दी और नेम प्लेट को बरामद करने की बात दोहराई। थानाध्यक्ष ने बताया कि गिरफ्तारियां पंच घर जाकर सरस्वती पूजा के नाम पर अवैध चंदा की कर रहे थे।

टैग: बिहार समाचार, बिहार में अपराध, पटना न्यूज

Source link