Search for:
  • Home/
  • News/
  • सलमान खान हाउस फायरिंग मामला: मुंबई पुलिस ने लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के एक और सदस्य को गिरफ्तार किया

सलमान खान हाउस फायरिंग मामला: मुंबई पुलिस ने लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के एक और सदस्य को गिरफ्तार किया

समाचार एजेंसी पीटीआई ने मंगलवार को बताया कि मुंबई क्राइम ब्रांच ने बांद्रा में बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान के आवास के बाहर गोलीबारी के मामले में लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के एक और सदस्य को गिरफ्तार किया है। गोलीबारी मामले में गिरफ्तार होने वाला वह छठा व्यक्ति है.

एक अधिकारी ने बताया कि आरोपी की पहचान हरियाणा के फतेहाबाद निवासी हरपाल सिंह (34) के रूप में हुई है, जिसे मुंबई अपराध शाखा की एक टीम ने सोमवार शाम उसके गृहनगर से गिरफ्तार किया। हरपाल सिंह को मंगलवार तड़के मुंबई लाया गया और बाद में दिन में अदालत में पेश किया जाएगा।

14 अप्रैल को मुंबई के बांद्रा इलाके में गैलेक्सी अपार्टमेंट में सलमान खान के आवास के बाहर दो मोटरसाइकिल सवार लोगों ने गोलीबारी की और मौके से भाग गए।

अधिकारी ने कहा कि हरपाल सिंह का नाम लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के एक अन्य सदस्य आरोपी मोहम्मद रफीक चौधरी से पूछताछ के दौरान सामने आया, जिसे इस महीने की शुरुआत में गोलीबारी मामले में गिरफ्तार किया गया था।

पुलिस ने कहा कि हरपाल सिंह ने रफीक चौधरी को सलमान खान के आवास के आसपास रेकी करने के लिए कहा था और उसे 2-3 लाख रुपये भी दिए थे।

गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों में से एक, अनुज थापन, जिस पर शूटरों को हथियार आपूर्ति करने का आरोप था, ने कथित तौर पर 1 मई को मुंबई में पुलिस लॉक-अप में फांसी लगा ली थी।

लॉरेंस बिश्नोई, जो वर्तमान में गुजरात के अहमदाबाद में साबरमती केंद्रीय जेल में बंद है, और उसके छोटे भाई अनमोल बिश्नोई, जिनके बारे में माना जाता है कि वे अमेरिका या कनाडा में हैं, को गोलीबारी मामले में नामित किया गया है।

o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr
o5ogmmo5 gkrtr

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required