Search for:
  • Home/
  • News/
  • ‘शक्ति’ विवाद पर पीएम मोदी के हमले के बाद राहुल गांधी ने स्पष्टीकरण जारी किया

‘शक्ति’ विवाद पर पीएम मोदी के हमले के बाद राहुल गांधी ने स्पष्टीकरण जारी किया

रविवार को मुंबई के शिवाजी पार्क में गांधी ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर सवाल उठाने के लिए ‘शक्ति’ का आह्वान किया था। “हिंदू धर्म में एक शब्द है ‘शक्ति’। हम एक शक्ति (राज्य की ताकत) के खिलाफ लड़ रहे हैं। प्रश्न यह है कि वह शक्ति क्या है और उसका हमारे लिए क्या अर्थ है? ईवीएम की आत्मा और अखंडता का सौदा राजा (मोदी) को कर दिया गया है। यह सच है। न केवल ईवीएम बल्कि देश की हर स्वायत्त संस्था, चाहे वह ईडी, सीबीआई या आयकर विभाग हो, ने केंद्र को अपनी रीढ़ सौंप दी है, ”उन्होंने भारत जोड़ो न्याय यात्रा के आखिरी दिन कहा था।

सोमवार को गांधी ने अपनी टिप्पणी का बचाव करते हुए कहा, ”मैंने जिस ‘शक्ति’ का जिक्र किया, जिसके खिलाफ हम लड़ रहे हैं, उसका मुखौटा कोई और नहीं बल्कि मोदीजी हैं। यह एक ऐसी शक्ति है जिसने भारत की आवाज, संस्थानों, सीबीआई, आईटी विभाग पर कब्जा कर लिया है। , ईडी, चुनाव आयोग, मीडिया, उद्योग और संवैधानिक संरचना।”

गांधी ने कहा, “इस सत्ता के लिए नरेंद्र मोदी हजारों करोड़ रुपये का कर्ज माफ कर देते हैं, जबकि एक किसान कुछ हजार रुपये का कर्ज नहीं चुका पाने पर आत्महत्या करने को मजबूर हो जाता है।”

इससे पहले दिन में, पीएम मोदी ने गांधी की टिप्पणी को लेकर भारतीय गठबंधन पर हमला बोला था। “उन्होंने घोषणा की कि उनकी लड़ाई शक्ति के खिलाफ है… मेरे लिए, हर बेटी, मां और बहन शक्ति का अवतार हैं।”

“जो लोग शक्ति के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं, मैं आपकी चुनौती स्वीकार करता हूं। मैं शक्ति के लिए अपना जीवन बलिदान करने को तैयार हूं।”

jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg
jrkgirmif 4infimfifg

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required