Search for:
  • Home/
  • News/
  • वकील का कहना है कि मानहानि मामले में राहुल गांधी को ’30-45 मिनट के लिए हिरासत में लिया गया’, जमानत मिल गई

वकील का कहना है कि मानहानि मामले में राहुल गांधी को ’30-45 मिनट के लिए हिरासत में लिया गया’, जमानत मिल गई

कांग्रेस नेता राहुल गांधी को मंगलवार को सुल्तानपुर अदालत ने गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ पूर्व की टिप्पणी के लिए भाजपा नेता विजय मिश्रा द्वारा दायर 2018 मानहानि मामले में जमानत दे दी। उनके वकील ने कहा, अदालत ने उन्हें 30-45 मिनट के लिए हिरासत में ले लिया।

राहुल की जमानत के बारे में बोलते हुए वकील संतोष पांडे ने कहा, “उन्होंने (राहुल गांधी) आज अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। उन्होंने आत्मसमर्पण कर दिया और अदालत ने उन्हें 30-45 मिनट के लिए हिरासत में ले लिया. उसके बाद, उनकी जमानत याचिका दायर की गई और (अदालत द्वारा) स्वीकार कर ली गई… आगे की तारीख अभी नहीं दी गई है। उनके वकील ने कहा कि वह निर्दोष हैं और उन्होंने कोई मानहानिकारक बयान नहीं दिया है…”

पांडे ने आगे कहा कि अगर राहुल गांधी के खिलाफ पर्याप्त सबूत पाए गए तो उन्हें अधिकतम 2 साल की सजा हो सकती है। जमानत बांड भरने के बाद न्यायाधीश योगेश यादव ने राहुल को जमानत दे दी।

उस साल 8 मई को बेंगलुरु में एक संवाददाता सम्मेलन में शाह के खिलाफ कथित आपत्तिजनक टिप्पणी करने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का मामला दायर किया गया था। जब गांधी ने यह टिप्पणी की तब अमित शाह भाजपा अध्यक्ष थे। राहुल गांधी ने भाजपा पर हमला किया और कहा कि पार्टी ईमानदार और स्वच्छ राजनीति में विश्वास करने का दावा करती है लेकिन पार्टी का अध्यक्ष एक हत्या के मामले में “आरोपी” है।

विकास पर प्रतिक्रिया देते हुए मिश्रा ने एएनआई से कहा, ”जब यह घटना हुई तब मैं बीजेपी का उपाध्यक्ष था। राहुल गांधी ने बेंगलुरु में अमित शाह पर आरोप लगाया था कि वह हत्यारे हैं। जब मैंने ये आरोप सुने तो मुझे बहुत दुख हुआ क्योंकि मैं 33 साल का हूं।” -पार्टी का एक वर्षीय कार्यकर्ता। मैंने अपने वकील के माध्यम से इस संबंध में शिकायत दर्ज की और यह लगभग 5 वर्षों तक जारी रहा…”

उन्होंने कहा, “भाजपा देश की सबसे बड़ी पार्टी है। इसके (तत्कालीन) अध्यक्ष को हत्यारा कहना अनुचित है।”

jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig
jn3rni44r93ifir vgkkffig

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required