Search for:
  • Home/
  • News/
  • गुजरात यूनिवर्सिटी हिंसा: वीसी का दावा, विदेशी छात्रों पर हमले के पीछे सिर्फ नमाज नहीं हो सकती वजह

गुजरात यूनिवर्सिटी हिंसा: वीसी का दावा, विदेशी छात्रों पर हमले के पीछे सिर्फ नमाज नहीं हो सकती वजह

गुजरात विश्वविद्यालय की कुलपति नीरजा गुप्ता ने कहा कि शनिवार रात विदेशी छात्रों के खिलाफ हिंसा के लिए नमाज ही एकमात्र उकसावे का कारण नहीं हो सकता। नीरजा गुप्ता ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि विदेशी छात्रों द्वारा स्थानीय संस्कृति की अनदेखी के कारण यह घटना हुई होगी। उन्होंने दावा किया कि विदेशी छात्र मांसाहारी भोजन खाते हैं और बचे हुए भोजन को फेंकना गुजरात के शाकाहारी समाज में एक मुद्दा हो सकता है।

कुलपति ने विदेशी छात्रों को स्थानीय संस्कृति और प्रथाओं के बारे में संवेदनशील बनाने और सलाह देने की आवश्यकता के बारे में बात की।

गुजरात यूनिवर्सिटी में विदेशी छात्रों से जुड़ा विवाद क्या है?
शनिवार को, लोगों का एक समूह अहमदाबाद में गुजरात विश्वविद्यालय के छात्रावास में घुस गया और कथित तौर पर परिसर के अंदर नमाज पढ़ रहे विदेशी छात्रों पर हमला कर दिया। हिंसा में पांच लोगों को चोटें आईं. हमले के बाद श्रीलंका के एक छात्र और ताजिकिस्तान के एक अन्य छात्र को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

कथित तौर पर घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें एक छात्र एक ऐसे व्यक्ति को मार रहा है जो विश्वविद्यालय परिसर के अंदर नमाज पढ़े जाने की शिकायत कर रहा है।

इस बीच, गुजरात पुलिस ने हमले में कथित भूमिका के लिए कई लोगों को गिरफ्तार किया है। अहमदाबाद में पुलिस अधिकारियों ने कहा कि दंगा, गैरकानूनी सभा, स्वेच्छा से चोट पहुंचाने, संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और आपराधिक अतिक्रमण के लिए लगभग 25 अज्ञात लोगों के खिलाफ पहली सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) दर्ज की गई थी।

इस घटना की विभिन्न हलकों से व्यापक निंदा हुई है। विपक्षी दलों ने राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति के लिए सत्तारूढ़ भाजपा सरकार की आलोचना की है।

यह भी पढ़ें| हमले के बाद गुजरात यूनिवर्सिटी विदेशी छात्रों को नए हॉस्टल में शिफ्ट करेगी, सुरक्षा कड़ी करेगी: वीसी

विदेश मंत्रालय ने भी घटना का संज्ञान लिया. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जयसवाल ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर एक पोस्ट में कहा कि गुजरात सरकार अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रही है।

“कल अहमदाबाद में गुजरात विश्वविद्यालय में हिंसा की घटना हुई। राज्य सरकार अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रही है, ”उन्होंने कहा।

je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3
je4jfnin4i43or3

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required